secularism, for hindus only

  
this message is recieved from niharika aggarwal, a great patriot and krishna devotee.
i thank her for these mails.


कांग्रेस और मिडिया का फैलाया हुआ भ्रम है धर्मनिरपेक्षता और सेकुलर :
 
भारत में धर्मनिरपेक्ष और सेकुलर का अस्तित्व ही नहीं है, ऐसे कोई चीज होती ही नहीं, पुरे विश्व में ऐसा कुछ भी कही नहीं है, एक मुस्लिम कभी सेकुलर हो ही नहीं सकता और कट्टर हिंदुत्व भी किसी को नुकसान नहीं पंहुचा सकता. सेकुलर का मतलब ही है की हिन्दू/हिंदुत्व/हिंदूसंस्कृति का खुलेआम विरोध जिससे मुस्लिम और ईसाई खुश हो. इस निष्कर्ष से कोई असहमत हो ही नहीं सकता है एक मुस्लिम और ईसाई कभी सेकुलर होने दम ही नहीं भरता  है, उसके बदले वे एक बददिमाग हिंदू को चुनते हैं हिंदुत्व  को गली देने के लिए. मैंने आज तक किसी मुस्लिम नेता को टीवी पर सेकुलर शब्द के ऊपर व्याख्या करते हुए नहीं देख क्योकि उसे मालूम है इस्लाम में सेकुलर जैसी चीज का कोई अस्तित्व या मान्यता ही नहीं है. हा, भ्रम फ़ैलाने के लिए कभी कभी कोई चुनावी मंच से सेकुलर शब्द बोल दे तो एक धोखा ही है.
 
एक कट्टर हिंदू क्या होता है. गाय को मत काटो, गाय की पूजा करो, देवी देवताओ की पूजा और आराधना,तुलसी, पेड़, जल, पहाड़, नदी, कुआ,साप,पक्षी,कन्या,बुजुर्ग,गुरु, सबकी पूजा, भारत की संस्कृति को अपनाओ, विदेशी नंगी सस्कृति को मत अपनो, माँ-बाप श्रेष्ठजनो को इज्जत दो, शराब /मांस और दूसरे मन को अपवित्र करने वाले खान पान से दूर रहो, स्वदेशी को अपनाओ, हिंदुत्व को नष्ट करने वाली कृत्यों का विरोध, मूर्तियों को भगवान उपस्थिति मनाकर पूजा, समय/काल के हिसाब से बने हिंदू रीती-रिवाजो का पालन जिसमे प्रकृति सरक्षण छिपा है, मन की सुचिता, शारीर की सफाई और ध्यान /प्रणायाम ..यही तो करते हैं कट्टर हिंदू इसमे किसी का नुक्सान कही नहीं होता है..
 
लेकिन जैसे ही गाय और जानवरों को कटाने की बात आती है..वही से विरोध शुरू होता है जिसे हम सेकुलर और सहिष्णुता के परदे में छुपाने की कोशिश करते है और इन सबके लिए हिन्दुओ का विरोध करने के लिए एक शब्द पैदा कर दिया – सेकुलर .
 
दुनिया में यदि कोई सेकुलर की तथाकथित अर्थ को समर्थन देता है तो वह खुद हिंदू ही है और यही उदारता हिंदुत्व के नाश का कारन बनती जा रही है. पुरे विश्व  में हिन्दुओ का सबसे अधिक नुक्सान उसी इस्लाम ने किया जिनको प्रथमिकता देने के चक्कर में सेकुलर के नाम पर सरकारे हिन्दुओ का विनाश सुनिश्चित कर रही हैं और मानसिक हताशा और सामाजिक असुरक्षा पैदा कर रही है.
 
इस दुनिया में कोई सेकुलर नहीं या कहे सेकुलर जैसी कोई चीज होती ही नहीं..सबको अपना धर्म प्यारा और सबको अपने धर्म की जान देकर रक्षा करनी चाहिए. सच्चाई तो ये है की भारत तभी तक भारत है जब तक हिंदू शक्तिशाली है नहीं तो इसके २० टुकड़े हो जाने वाले है और यह भारत के अस्तित्व को बचाए रखने का अंतिम मौका है क्योकि आक्रमण हर तरफ से हर चीज पर और हर तरीके से हो रहा है जिसके लिए सिर्फ तथाकथित सेकुलर हिंदू ही  जिम्मेदार है,
जय भारत,

1 comment:

Er. Shilpa Mehta : शिल्पा मेहता said...

सर, क्या आप निरामिष ब्लॉग पढ़ते हैं ? शायद आपको पसंद आएगा | यह एक ग्रुप ब्लॉग है |