visit to canton fair in china may 2011





visit to canton fair in china may,2011

2 comments:

आशुतोष की कलम said...

अथातो घुम्मकड़: जिज्ञासा

I and god said...

प्रिय भाई आशुतोष जी

मैं जिज्ञासु न होकर उससे भी एक पहले व एक बाद का हूँ. अर्थात आर्त व अर्थार्थी. जैसा कि श्री गीता जी के अध्याय ७ श्लोक १६ में है :
आर्तो जिज्ञासु अर्थार्थी ज्ञानी च ॥७- १६॥
अशोक गुप्ता
दिल्ली